बस एक मौका

boy in tears
रूठी तो कई बार थी मुझसे ,
पर इतना दर्द तो ना होता था ,
जिस प्यार की खातिर किये कितने समझौते ,
वो प्यार खुद में एक समझौता था |

दूर होके वो मुझसे कितनी खुश है ,
पहले तो यकीं नहीं होता था ,
टूटे सपनो की चीखें सोने नहीं देतीं ,
उसके अदाओं में खोया पहले भी कहाँ सोता था |

उस घर के आते हीं मेरे कदम तेज हो जाते हैं ,
जिसकी खिड़की पर मैं घंटों खड़ा होता था ,
संभाल लेता खुद को जब पहली बार उसे देखा था ,
पास मेरे बस वही एक मौका था |

Nishikant

Comments

  1. nic one... quite true...
    sir, i have created a similar blog
    http://feel-ankthots.blogspot.in/

    it wud be very kind if u could spare sometime for it.....
    thnx

    ReplyDelete
  2. Mohabbat Mein Laakhon Zakham Khaye Humne,
    Afsos Unhe Hum Par Aitbar Nahi,
    Mat Pucho Kya Gujarti Hai Dil Par,
    Jab Vo Kehte Hai Hame Tumse Pyar Nahi..

    Hindi Shayari

    ReplyDelete
  3. Hi,

    I like your blog very much. I a fan of yours.Please keep writing .I have read your every single post.Your poems are so sweet, your girlfriend would so lucky.

    ReplyDelete
  4. आपके ब्लॉग पर हमारीवाणी कोड नहीं लगा हुआ है, जिसके कारण आपकी पोस्ट हमारीवाणी पर समय पर प्रकाशित नहीं हो पाती है. कृपया हमारीवाणी में लोगिन करके कोड प्राप्त करें और अपने पर ब्लॉग लगा लें. इसके उपरांत जब भी नई पोस्ट लिखें तब तुरंत ही हमारीवाणी क्लिक कोड से उत्पन्न लोगो पर क्लिक करें, इससे आपकी पोस्ट तुरंत ही हमारीवाणी पर प्रकाशित हो जाएगी.

    अधिक जानकारी के लिए निम्नलिखित लिंक पर क्लिक करें.

    http://www.hamarivani.com/news_details.php?news=41

    टीम हमारीवाणी

    ReplyDelete
  5. This is the precise weblog for anybody who needs to seek out out about this topic. You notice so much its almost arduous to argue with you. You positively put a brand new spin on a subject that's been written about for years. Nice stuff, simply nice!

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

तीन नमूने

कविता की कहानी (Hindi Love Stories)

मेरी याँदे